पहले योगदान करने वाले वंचित, बाद वाले को राशि भुगतान

सीतामढ़ी । जिला साक्षरता सीतामढी द्वारा  29 जुलाई 2016 को तालिमी मरकज़ में योगदान करने वाले 20 शिक्षा स्वयं सेविओं का मानदेय राशि भुगतान किया जा रहा है वहीं फरवरी 2016 और 11 जुलाई 2016 में योगदान करने वाले शिक्षा स्वयं सेवी को मानदेय राशि भुगतान से वंचित रखा जा रहा है।होना तो ये चाहिए था कि पहले योगदान करने वाले को मानदेय राशि का भुगतान होना चाहिए था मगर यहाँ ऐसा नहीं हो रहा है ।

कमाल तो ये है कि इन संबंधित विद्यालयों के प्रधान को मालूम भी नहीं है कि इनके विद्यालय में ये तालिमी मरकज़ के शिक्षा स्वयं सेवक कार्यरत हैं (बीस शिक्षा स्वयं सेवक) ।और इनको मानदेय राशि का भुगतान भी हो रहा है और जो बाक़ायदा कार्यरत हैं वे मानदेय के लिए रास्ता ही देख रहे हैं।अंकनीय है कि जिन शिक्षा स्वयं सेवकों ने पहले योगदान किया उनके मानदेय राशि भुगतान के लिए राशि की माॅग ही अभी निदेशालय से की जा रहीं है जबकि बाद में योगदान करने वाले बीस शिक्षा स्वयं सेवकों को नियमित मानदेय राशि का भुगतान जिला साक्षरता सीतामढी द्वारा किया जा रहा है ।
बताते चलें कि बीस शिक्षा स्वयं सेवकों में सात शिक्षा स्वयं सेवकों का नियोजन एक ही विद्यालय अनुसूचित जाति टोल आवापुर, मौला नगर दक्षिण पंचायत और पुपरी प्रखण्ड में किया गया है।जानकारी अनुसार तालिमी मरकज़ शिक्षा स्वयं सेवी का नियोजन मुस्लिम समुदाय के बच्चों को मुख्य धारा की शिक्षा प्रदान करने के लिए की जाती है लेकिन यहाँ तो सब कुछ नियम विरुद्ध ही लग रहा है।

जिन शिक्षा स्वयं सेवी का योगदान 29 जुलाई 2016 दिया गया है वे निम्न हैं :-


        

0