Skip to main content

Posts

विशिष्ट पोस्ट

सहारा इण्डिया परिहार सीतामढ़ी से maturity amount का भुगतान नहीं, जमाकर्ता परेशान

परिहार सीतामढ़ी(बिहार)।सहारा इण्डिया परिहार शाखा द्वारा maturity amount का भुगतान नहीं किया जाता है इतना ही नहीं maturity amount के भुगतान में सहारा इंडिया के मुख्य कार्यालय द्वारा भी असमर्थता जताई जाती है और कहा जाता है कि सहारा इंडिया के तमाम एसेट्स पर पाबंदी लगी हुई है जब तक पाबंदी नही हटती भुगतान मुमकिन नहीं।मालूम हो कि ग्राम एकडण्डी परिहार निवासी श्रीमति रूमाना परवीन ने सहारा इंडिया के सहारा यूनिक स्कीम के तहत मात्र 5000/रुपये की राशि फिक्स्ड डिपॉजिट 2008 में की थीं जिसकी maturity 2018 के जनवरी में पूरी हो गई मगर आज तक maturity anount का भुगतान मुमकिन नहीं हो सका जिसको लेकर ईमेल शिकायत सहारा इंडिया के मुख्य कार्यालय से की गई मगर ईमेल शिकायत का कोई जवाब नही दिया गया और न ही भुगतान की दिशा में कोई कार्रवाई ही की गई तब दूरभाष से मुख्य कार्यालय सम्पर्क किया गया तो बताया गया कि पाबन्दी के कारण भुगतान मुमकिन नहीं पाबंदी हटने का इंतज़ार करें या पुनः रिइंवेस्ट कर दें  लोगों ने बड़े अरमान से कुछ राशि बचत कर सहारा इंडिया में जमा किया था कि समय पर काम आएगा मगर सभी अरमान पर सहारा इंडिया ने पानी…
Recent posts

सहारा इंडिया मेच्यूरिटी पेमेंट ना बाबा न

सहारा इंडिया और मेच्यूरिटी पेमेंट ना बाबा न यहाँ सिर्फ जमा होता है फ़िलहाल पेमेंट की बात भी करना अपराध है मेच्यूरिटी पूरा हो गया है तो क्या हुआ प्रतीक्षा करते रहें अगर नही कर सकते हैं तो दुबारा इन्वेस्ट कर दें।
सहारा इंडिया की हालत 5000/ रुपये पेमेंट करने की भी नहीं रह गई है तो सोच सकते हैं आपकी जमा की गई राशि क्या आप को समय पर मिल सकती है ? और आप अपनी जरूरत क्या समय पर पूरी कर सकते हैं ?

राष्ट्रीय शैक्षिक महासंघ बिहार, शाखा सीतामढी़ के प्रतिनिधिओं ने ज्ञापन सौंपा

राष्ट्रीय शैक्षिक महासंघ बिहार, शाखा सीतामढी़ के प्रतिनिधिओं ने ज्ञापन सौंपा

रोटी और आग

रोटी और आगएक बार ''हुजूर सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम''अपनी प्यारी बेटी फातिमा के घर तशरीफ ले जाते है।जाकर देखते हैं फातिमा रोटी बना रही है।हुजूर फरमाते है ''फातिमा तुम तो हर रोज रोटी बनाती हो आज मैं तुम्हारे लिए रोटी बनाऊँगा हुजूर रोटी बना कर रोटी को सेंकने के लिए आग में डालते हैं बहुत देर तक रोटी नहीं सीकती हुजूर और लकड़ियां आग में डालते हैं।लेकिन रोटी पे कोई फर्क नहीं पड़तातब हुजूर रोटी से फरमाते है कि इतनी आग लगाने पर भी तुम क्यों नहीं सीक रही हो।तो रोटी ने कहा ''या रसूल अल्लाह मुझे आप के हाथों ने छु लिया है यह आग तो क्या मुझे जहन्नुम की आग भी नही जला सकती.......       *(((( सबक ))))*जिस रोटी को हुजूर ने हाथ से छू लिया हो उसे कोई आग जला नहीं सकी तो फिर जिस के दिल में इश्के नबी हो उसे जहन्नुम की आग क्या जलाएगी,,,,,,,,,subhanAllah
🕌🕌🕌🕌🕌🕌🕌🕌
Hazrat Ali फरमाते है........
"जितनी भी बड़ी मुश्किल हो
🕌🕌🕌🕌🕌🕌🕌
जितना भी बड़ा इम्तिहान हो
घर से निकलते वक्त एक रोटी के निवाले मैं थोडा सा नमक डाल कर खा लो,
ऐसा मुमकिन ही नही की घर मायूस हो कर लोटो।
🕌🕌?…

बा ख़बर होशियार, होशियार,होशियार सहारा इण्डिया परिवार में राशि जमा कर्ता होशियार

बा ख़बर होशियार, होशियार,होशियार सहारा इण्डिया परिवार में राशि जमा कर्ता होशियार  सहारा इण्डिया में राशि जमा करने वाले जमाकर्ता होशियार हो जायें क्योंकि समय पूरा हो जाने पर maturity amount का भुगतान नहीं किया जाता है री इन्वेस्ट या प्रतीक्षा करने का मशवरा दिया जाता है इसलिए अपनी रक़म जमा करने में विवेक का प्रयोग करें ताकि समय आने पर अफसोस न करना पड़े।

دین بچاﺅ دیش بچاﺅ کانفرنس میں آنے والی گاڑیوں کےلئے روٹ چارٹ جاری

دین بچاﺅ دیش بچاﺅ کانفرنس میں آنے والی گاڑیوں کےلئے روٹ چارٹ جاریراجدھانی کے مختلف مقامات پر پارکنگ کے بہترین انتظامات، ٹریفک محکمہ کا ڈی ایم کو خط پٹنہ 6اپریل (پریس ریلیز)آئندہ 15اپریل کو پٹنہ کے گاندھی میدان میں ہونے والی” دین بچاﺅ دیش بچاﺅ کانفرنس“ کے پیش نظر ٹریفک ایس پی پٹنہ کی جانب سے گاڑیوں کی پارکنگ کے لئے بہترین انتظامات کئے گئے ہیں۔ کانفرنس میں آنے والی تمام چھوٹی بڑی گاڑیوں کی پارکنگ کے لئے الگ الگ روٹ چارٹ جاری کئے گئے جو اس طرح ہیں۔ بڑی گاڑیوں کے لئے میٹھا پور بس اسٹینڈ کے اندر خالی جگہ میں 250،ویٹنری کالج احاطہ میں 350-400گاڑیوں ،گیٹ نمبر 93گھاٹ ،دیگھا کے اندر 200گاڑیوں ،گردنی باغ اسٹیڈیم گراﺅنڈ کے اندر 100بڑی گاڑیوں، پاٹلی پترا اسٹیڈیم کنکر باغ میں بڑی اور چھوٹی 200گاڑیوں کی پارکنگ کے انتظامات کئے گئے ہیں۔ اسی طرح ہارڈنگ روڈ ،گردنی باغ ، آر او بی کے مغرب(چتکوہڑا پل کے نیچے سڑک کی دونوں جانب) میں 100چھوٹی گاڑیوں، معین الحق اسٹیڈیم کے اندر 500چھوٹی گاڑیوں، بانس گھاٹ میں 1000چھوٹی گاڑیوں، ویر چند پٹیل پتھ کی دونوں جانب سروس لین میں 250چھوٹی گاڑیوں ، میلرہائی اسکول میدان می…

पता नही कौन सी ब्यार चली है?

आज बिहार में बड़े, छोटे, निरहू, घुरहू सब बिना हाथ धोये स्कूल के पीछे पड़े हैं,पता नही कौन सी ब्यार चली है? समझ नही आ रहा। जिन्होंने कभी कॉलेज नही देखा, वो सुबह स्कूल चेक करने निकलतें है।
जिनको ठीक से हिंदी नही आती वो मास्टरों की अंग्रेजी पर ताना मारते है।
अगर सरकार को लगता है कि स्कूल पर पैसा  बेकार खर्च हो रहा है तो  स्कूल बंद क्यों नही कर देती सरकार ।  *देश का प्रधानमंत्री झाड़ू लगाए तो वाह वाह, बच्चा झाड़ू लगाए तो मास्टर ससपेंड*खुले में शौच से मुक्ति के लिए सुबह 4 बजे गांव में टीम तैनात, कि कोई जंगल मे कर न पाए,अरबों रुपए स्वच्छ भारत मिशन में लगाए गए,माननीय प्रधानमंत्री जी एक टीम स्कूल के लिए भी बना दीजिये,
कि गांव में कोई बच्चा स्कूल समय मे घूमता नही दिखे,अध्यापक की सैलरी पर सभी ताना देतें है,
कभी किसी बाबू पर भी उंगली उठाई है किसी ने ?
उनको तो बाबू जी 😡😡*अगला आधा साल बीतने तक भी वेतन के दर्शन नहीं होते शिक्षक को*खाना बनवाये मास्टर
कपड़ा सिलवाए मास्टर
फल बटवाये मास्टर
दूध पिलाये मास्टर
झाड़ू लगाए मास्टर
स्कूल के कमरे बनवाये मास्टर
स्कूल पुतवाये मास्टर
किताब बांटे मास्टर
चुनाव कराए …

सहारा इण्डिया परिहार सीतामढ़ी से maturity amount का भुगतान नहीं, कस्टमर परेशान

परिहार सीतामढ़ी(बिहार)।सहारा इण्डिया परिहार शाखा द्वारा maturity amount का भुगतान नहीं किया जाता है इतना ही नहीं maturity amount के भुगतान में सहारा इंडिया के मुख्य कार्यालय द्वारा भी असमर्थता जताई जाती है और कहा जाता है कि सहारा इंडिया के तमाम एसेट्स पर पाबंदी लगी हुई है जब तक पाबंदी नही हटती भुगतान मुमकिन नहीं।मालूम हो कि ग्राम एकडण्डी परिहार निवासी श्रीमति रूमाना परवीन ने सहारा इंडिया के सहारा यूनिक स्कीम के तहत मात्र 5000/रुपये की राशि फिक्स्ड डिपॉजिट 2008 में की थीं जिसकी maturity 2018 के जनवरी में पूरी हो गई मगर आज तक maturity anount का भुगतान मुमकिन नहीं हो सका जिसको लेकर ईमेल शिकायत सहारा इंडिया के मुख्य कार्यालय से की गई मगर ईमेल शिकायत का कोई जवाब नही दिया गया और न ही भुगतान की दिशा में कोई कार्रवाई ही की गई तब दूरभाष से मुख्य कार्यालय सम्पर्क किया गया तो बताया गया कि पाबन्दी के कारण भुगतान मुमकिन नहीं पाबंदी हटने का इंतज़ार करें या पुनः रिइंवेस्ट कर दें  लोगों ने बड़े अरमान से कुछ राशि बचत कर सहारा इंडिया में जमा किया था कि समय पर काम आएगा मगर सभी अरमान पर सहारा इंडिया ने पानी…

अग्नि पीड़ितों को मुखिया ने दिया अनाज व सहायता राशि

ग्राम पंचायत लहुरिया के ग्राम खुरसाहा के वार्ड संख्या ग्यारह में बीती रात आग लग र्गइ जिसमें पाँच बकरी , घर में रखा अनाज, कपड़ा जलकर राख हा गया। ग्राम पंचायत की मुखिय आमना खातुन के द्वारा अग्नि पीड़ित परिवार को दस हजार रुपया एंव पचास किलों चावल देकर सहायता की।

عبرت آموز واقعہ:*⚫ایک سچا واقعہ⚫*

عبرت آموز واقعہ:*ایک سچا واقعہ*
*خطیب العصر حضرت مولانا عبدالشکور صاحب دین پوری ؒ کی کتاب سے:*میں چیچہ وطنی (پنجاب) سے تقریر کر کے جارها تها کچھ ساتهی ساتھ تهے، ایک آدمی کو دیکها چار پائی پر بیٹها تها، مکهیاں اس کے پاس بهنبهنارهی تهیں، عجیب حالت تهی؛ چہره زرد هے، غبار و گرد هے، عجیب درد نہ اس کا کوئی همدرد هے، مجهے سمجھ نہ آئی یہ کون ہے، میں اس کے قریب گیا تو کہنے لگا "او مولانا! ادهر تشریف لائیں، پیلے دانت ہڈیوں کا ڈهانچہ کمزور سانچہ، اس کے پاؤں پر ایک کپڑا پڑا ہوا تها،
اس نے کہا مجھے عبرت سے دیکهو، ابهی آپ کی تقریر کی آواز یہاں آرهی تهی اور میں سن رها تها،
کہنے لگا یہاں میرا مکان تها،  دوکان تهی، کاروبار تها،میں کون تها میں ایک شیر جیسا انسان تها، لیکن اب بهیک مانگتا هوں اور اب کوئی بهیک بهی نہیں دیتا، بلکہ مجھ پر لوگ لعنت کرتے هیں،
کہنے لگا غور سے سننا،  عبرت کی بات بتارها هوں، اس نے میرا ہاتھ پکڑا اور کافی دیر تک روتا رها، کہنے لگا میں وه بدنصیب هوں جس نے اپنی ماں کے چہرے پر جوتے مارے هیں، (استغفراللہ)کہنے لگا ایک رات اپنے بدکردار غنڈے دوستوں کے ساتھ سینما دیکهنے گیا واپسی…

अनुसूचित जाति अत्याचार अधिनियम को निष्प्रभावी बनाने हेतु माननीय सर्वोच्च न्यायालय के संविधान विरोधी फैसला के विरोध में मशाल जुलूस निकाला गया

अनुसूचित जाति अत्याचार अधिनियम को निष्प्रभावी बनाने हेतु माननीय सर्वोच्च न्यायालय के संविधान विरोधी फैसला के विरोध में अनुसूचित जाति कर्मचारी संघ के आह्वान पर 2 अप्रैल को भारत बन्द करने हेतु  आज 1 अप्रैल को नागेन्द्र कुमार पासवान के नेतृत्व में अम्बेडकर स्मारक डुमरा से हजारों की संख्या में मसाला जुलुस शङ्कर चौक बड़ी बाजार हनुमान चौक विश्वनाथपुर चौक होते हुए अम्बेडकर स्थल पर समाप्त हुआ।इसमें प्रमुख रूप से रघुनंदन बैठा मनोज कुमार, सरोज कुमार, महेंद्र राम, अंजनी बैठा, समोद कुमार , हरिनारायण राउत, रामप्रीत राम आदि ने प्रमुखता से भाग लिया

डी.ई.एल.एड.-501 भारत में प्राथमिक शिक्षा: एक सामाजिक-सांस्कृतिक परिप्रेक्ष्य

डी.ई.एल.एड.-501 भारत में प्राथमिक शिक्षा: एक सामाजिक-सांस्कृतिक परिप्रेक्ष्यसमय: 3 घंटे अधिकतमअंक: 70सामान्य निर्देश :(ए) सभी प्रश्न अनिवार्य हैं।(बी) इस पत्र में कुल 42 प्रश्न हैं।(सी) (i) प्रश्न संख्या 1 से 15 एकाधिक विकल्प-प्रकार के प्रश्न हैं जिनमें 1 अंक प्रत्येक होते हैं।(ii) प्रश्न संख्या 16 से 30 बहुत कम उत्तर-प्रकार के प्रश्न हैं जिनमें 1 अंक होते हैं।(iii) प्रश्न संख्या 31 से 40 कम उत्तर-प्रकार के प्रश्न हैं जो 2 अंक प्रत्येक होते हैं।(iv) प्रश्न संख्या 41 और 42 में लंबे समय से उत्तर-प्रकार वाले प्रश्न हैं, जिनमें 10 अंक हैं।(डी) जिन सवालों के प्रत्येक सवाल उठाए जाते हैं, उनके खिलाफ संकेत दिए जाते हैं।प्रश्न 1. शिक्षा आधुनिकीकरण की प्रक्रिया को गति कर सकते हैं(ए) शिक्षकों के वेतन में वृद्धि(बी) व्यावसायिक विषयों और विज्ञान के शिक्षण पर ज़ोर देना(सी) सार्वजनिक शिक्षा की सामान्य स्कूल व्यवस्था शुरू करना(डी) छात्रों को सामाजिक न्याय के उच्च विचारों से पहले प्रस्तुतप्रश्न 2. निम्नलिखित में से कौन सी शिक्षा पर राष्ट्रीय नीति, 1 9 86 की मुख्य विशेषता नहीं है?(ए) राष्ट्रीय रक्षा के…