Skip to main content

खाद्य उपभोक्ता संरक्षण बिहार के महत्वपूर्ण दूरभाष नम्बर


HQ Contact Info

Food consumer and protection patna

Officers at Head-Quarter, Patna
SL Designation Name Place of posting Mobile No. Phone Fax
1 2 3 4 5
1. Secretary Shri Pankaj Kumar Head-Quarter 9473191484 2217799 2239760
2. Director Shri Mohan Prasad Head-Quarter 9430238477
3. Deputy Secretary Shri Ram Chandra Mallik Head-Quarter 9835003360 2239760
4. Deputy Secretary Shri Bidhu Bhushan Choudhary Head-Quarter 9955544047
5. Under Secretary Shri Praphull Kumar Arya Head-Quarter 9334152657
6. Officer on Special Duty Khurshid Alam Khan Head-Quarter 9470243951
7. Officer on Special Duty Smt Sangeeta Singh Head-Quarter 9430432350
8. Officer on Special Duty Smt Anjula Prasad Head-Quarter 9431078789
9. Officer on Special Duty Smt Pratibha Singh Head-Quarter 9955820733
10. Section Officer (Sec-1) Shri Birendra Kumar Prasad Head-Quarter 9473382743
11. Section Officer (Sec-2) Shri Surendra Sinha Head-Quarter 9334413753
12. Section Officer (Sec-3) Shri Nawal Kishore Singh Head-Quarter 9939432811
13. Section Officer (Sec-4) Shri Shailendra Narayan Mallick Head-Quarter 9931000941
14. Section Officer (Sec-5) Shri Nawal Kishore Singh Head-Quarter 9939432811
15. Section Officer (Sec-6) Shri Shailendra Narayan Mallick Head-Quarter 9931000941
16. Section Officer (Sec-7) Shri Harendra Kumar Shrivastava   Head-Quarter 9334103558
17. Section Officer (Sec-8) Shri Surendra Sinha Head-Quarter 9334413753
18. Section Officer (Sec-9) Shri Shailendra Narayan Mallick Head-Quarter 9931000941
19. Section Officer (Sec10)   Shri Satyendar Kumar Singh Head-Quarter 9431049466
20. Assistant Shri Arvind Kumar Head-Quarter 8544070218
21. Assistant Shri Shailendar Kumar Head-Quarter 9431078469
22. Assistant Shri Dinesh Kumar Singh Head-Quarter 9431664907
23. Assistant Shri Anand Kishore Jha Head-Quarter 9431083784
24. Assistant Shri Satyajit Pathak Head-Quarter 8987035948
25. Assistant Shri Ram Vilas Thakur Head-Quarter 9471489009
26. Assistant Shri Krishna Gopal Head-Quarter 9576802384
27. Assistant Shri Ajit Mishra Head-Quarter 9430907665
28. Assistant Shri Bhawesh Sardar Head-Quarter 8877257266
29. Assistant Shri Basant Rajak Head-Quarter 7631834358
30. Assistant Shri Shiv Kumar Prasad Head-Quarter 9334641965
31. Assistant Shri Amrendar Chaudhary Head-Quarter 9431491941
32. Assistant Shri Ram Uchit Prasad Head-Quarter 9939665951
33. Assistant Shri Sambhu Chaudhary Head-Quarter
34. Assistant Shri Arun Kumar Sinha Head-Quarter
35. Assistant Shri Ajay Kumar Mishra Head-Quarter 9470834688
36. Assistant Smt Munni Kumari Head-Quarter 2345426
37. Assistant Shri Shashi Shekhar Kumar Head-Quarter 9931592393
38. Assistant Shri Birendar Prasad Head-Quarter 9431259638
39. Marketing Officer Shri Achal Kapoor Head-Quarter 9430955885
40. Marketing Officer Shri Binod Kumar Pandey Head-Quarter 9430955951
41. Marketing Officer Shri Mithelesh Kumar Head-Quarter 9471243621
42. Marketing Officer Shri Shyam Kishore Head-Quarter 9430559518
43. Marketing Officer Shri Raj Kumar Head-Quarter 9934033713
44. Marketing Officer Shri Ashok Kumar Head-Quarter 9431033585

Post a Comment

Popular posts from this blog

सीतामढ़ी महादेवपट्टी गाँव में हुए गैस लीक काण्ड में झुलसे एक और जख्मी मुकेश पासवान की मौत/मृतक और पीड़ित परिवार को मदद नही

मोहम्मद दुलारे
__________
परिहार(सीतामढ़ी)।महादेवपट्टी गाँवमें हुए गैस लीक काण्ड में झुलसे एक और जख्मी मुकेश पासवान की मौत शनिवार को एसकेएमसीएच मुजफ्फरपुर में हो गई। इस प्रकार इस घटना में अब तक मरने वालों की संख्या 3 हो गई है। मुकेश से पहले 31 अक्टूबर की रात रामप्रवेश पटेल और 3 नवंबर को मुकेश की 3 वर्षीया भतीजी राधा की मौत भी इलाज के दौरान एसकेएमसीएच में हो गई थी। यहाँ बता दें कि छठ पूजा से एक दिन पूर्व 25 अक्टूबर की रात महादेव पट्टी के मुकेश पासवान के घर में खाना गरम करने के दौरान पहले से लीक गैस में अचानक आग लग गया था। इस घटना में मुकेश सहित परिवार के 11 लोगों के अलावा पड़ोसी रामप्रवेश पटेल भी झुलसकर गंभीर रुप से जख्मी हो गए थे। घायलों को ग्रामीणों एवं जनप्रतिनिधियों की मदद से स्थानीय पीएचसी परिहार में भर्ती कराया गया था,बाद में सभी घायलों को एसकेएमसीएच मुजफ्फरपुर रेफर कर दिया गया था। जिनमें से अब तक 3 लोगों की मौत हो चुकी है। इस घटना से गाँव में मातमी सन्नाटा पसरा हुआ है।तीन मौत के बाद टूटा भरोसा ः एसकेएमसीएच में एक-एक कर 3 घायलों की मौत के बाद  परिजनों का सब्र जवाब दे गया है। परिजनो…

तालिमी मरकज़ के शिक्षा स्वयं सेवक राजनीती का शिकार न बने

बिहार प्रदेश के सभी तालिमी मरकज़  साथियों  व्हाट एप्प पर बिना मतलब बहस ,इल्ज़ाम तराशी से कुछ हासिल होने वाला हो तो बतलाये ।इस फालतू के बहस से कुछ हासिल होने को नही है लिहाज़ा खामखा के बहस से बचा जाये।
तालिमी मरकज़ हों या उत्थान केंन्द्र के साथी सभों की ख्वाहिश है कि उनको सरकार राज्य कर्मी घोषित कर वेतनमान दे मगर ज़रा सोचें क्या सरकार ये माँग  तालिमी मरकज़ और उत्थान केंन्द्र को देने जा रही है ?
सोचने वाली बात ये है कि जब सरकार तालिमी मरकज़ और उत्थान केंन्द्र के कर्मी को निविदा कर्मी और नियोजित मानने को तैयार नही -------
ऐसे हालात में हमारे तालिमी मरकज़ के साथी ये भ्रम पाले हुए हैं कि सरकार निश्चय यात्रा के खात्मा पर तश्त में पेश कर बहुत बड़ी चीज पेश करने जा रही है इस लिए सरकार के सामने सांकेतिक तौर पर भी बैठक कर अपनी कोई माँग न रखें। और तरह तरह के मिसाल पेश कर डराया जा रहा है जो ग़ैर मुनासिब है।
आप ये कान खोल कर सुन लें आप की सेवा 60 साल होगी ये संकल्प में नही बल्कि सरकार का ये कहना है कि 60 साल तक सेवा लेगी।आपने जो अपने ख्वाब व ख्याल में पाल रखा है क्या वह बिना क़ुर्बानी के हासिल किया जा सकता है…

शिक्षक भिखारी महतो जिसने इन्दरवा विद्यालय की तस्वीर बदल दी

रितु जायसवाल एक सरकारी विद्यालय और एक शिक्षक ऐसा भी!
बिहार! एक ऐसा राज्य जो अपनी ऐतिहासिक गौरवगाथा के साथ साथ सरकारी शिक्षा तंत्र के बदहाली केलिए भी जाना जाता है। प्राथमिक, माध्यमिक, उच्च शिक्षा, सब के हालात दयनीय। माने न माने पर यह एक हकीकत है जिससे न मानने वाले भी अंदर ही अंदर सहमत होते हैं। कोशिश में लगी रहती हूँ की कम से कम पंचायत की मुखिया हूँ तो अपने पंचायत में शिक्षा की तस्वीर बदले पर बदलना तो दूर, तस्वीर बनती तक नहीं दिख रही। अपने पंचायत में जब विद्यालय नहीं मिला (विद्यालय हकीकत में तो खाना खाने का मेस बन गया है) तब थक कर ढूंढने निकली की कहीं तो कोई शिक्षक या विद्यालय होगा जहाँ हकीकत में बच्चों को "विद्यालय" और "शिक्षक" जैसे महान शब्द का मतलब का एहसास होता होगा। तो इस तलाश में मुलाक़ात हुई सोनबरसा के एक पत्रकार बीरेंद्र जी से जो जब मिलते थे तब यही कहते थे की इंदरवा स्कुल देखने कब चलिएगा? इस प्रश्न में उनकी उत्सुकता देखने योग्य रहती थी जैसे वो कुछ बड़ा ही अद्भुत चीज़ दिखाना चाहते हों। 4 से 5 बार उन्होंने कहा पर किसी न किसी कारण से नहीं ही जा पाई। पर आखिरकार एक दि…