Barsat ki umas ---------------- Kal halki barish kiya hui aaj mausam ne aag ugalna hi shuro kar diya dhup me garmi ki tamazat hai aur umad bhari hui hai wase bhi ramzan me rozedaro ko kam garmi bhi bardash se bahar ho jati hai badan me pani ki kami se kamzori ka ahsas ziyada hone lagta hai

Barsat ki umas ----------------कल हल्की बारिश किया हुई आज मौसम ने आग उगलना ही शुरू दिया  धुप में गर्मी की तमाजत है और उमस भरी है।वैसे भी रमजान में रोजेदारों को कम गर्मी भी बर्दाशत से बाहर हो जाती है,बदन मेंपानी की कमी से कमजोरी का एहसास ज्यादा होने लगता है।
Post a Comment

Popular posts from this blog

तालिमी मरकज़ के शिक्षा स्वयं सेवक राजनीती का शिकार न बने

शिक्षक भिखारी महतो जिसने इन्दरवा विद्यालय की तस्वीर बदल दी

Breaking News :-विधुत के ज़द में आने से लाईन मैन अनिल कुमार सिंह की मौत