Skip to main content

अब बिहार में क्या फैसला भीड़ करेगी ?

نوشادزبیرملک
ماسٹر معراج عالم انصاری صاحب ساکن 
دترول، پکری براںواں، ضلع نوادہ کی 
یہ جناب بوری مڈل اسکول، کاشی چک، نوادہ کے  پرنسپل ہیں ان کے ساتھ گاؤں والوں نے ۱ اپریل 2017 اپریل فول عملی طور پر منایا، وہ اس طرح کی سازش کے تحت اسی اسکول کے ساتویں کلاس کی ایک بچی کو پری پلاننگ تیار کرکے ان پرالزام لگوایا دیاکہ ماسٹر صاحب میری عزت لوٹنے کی کوشش کر رہے تھے ۔
شرپسند عناصر پہلے سے تیار تھے ان کو ایک بھیڑ نے دوڑا دوڑا کر مارا ان کے کپڑے کو پھاڑ دیاجاتا ہے، اسی بوری گاؤں کے چندانصاف پسند عوام بچانے کی کوشش کرتے ہیں تو ان کو بھی مارا پیٹا جاتا ہے ۔
جب مارکر وہ لوگ تھک جاتے ہیں تو فورا کاشی چک سے پولیس کو بلاکر ان کے حوالے کردیاجاتا ہے ۔
پولیس اس بیچارے پر آدھا درجن مقدمات کے دفعات لگاتی ہے اور نوادہ جیل چلان کردیتی ہے ۔
اگر با لفرض یہ مان لیاجائے کہ ماسٹرصاحب نے غلطی کی ہے تو سزا عدالت دی گی کہ یہ"بھیڑ''دے گی? 
اس اسکول میں پربھاری پرنسپل  بننے کےلئے آپس میں پہلے سے رسہ کشی چل رہی تھی اسی کو ایک سازش کے تحت ایک شریف اور ایماندار انسان کو عصبیت کی بنیاد پر ذلیل کیاجاتا ہے لیکن پورا نوادہ ضلع خاموش ہے ۔
یہ ماسٹر صاحب اور بوری کے لوگ مار پیٹ کا مقدمہ درج کراتے ہیں تو ان کا F. I. R درج نہیں کیا جاتا ہے میں کل سے آج تک بوری، دترول کے لوگوں سے بات کی ہے سب لوگوں نے کہا ہے کہ ماسٹر صاحب بے قصور ہیں ۔
بھدونی شریف کے ماسٹر پرویز صاحب جو اسی اسکول میں استاذ ہیں انہوں نے کہا کہ سازش کے تحت ماسٹر معراج عالم انصاری صاحب کو پھنسایا گیا ہے ۔
میرا سوال ہے کہ کیا بہار کی سرزمین مسلمانوں کےلئے تنگ ہوگئی ہے?  شرپسند عناصر کے حوصلے اس قدر بلند ہوگئے ہیں کہ قانون کو ہاتھ میں لیکر عدالت سے باہر جس کے ساتھ جو چاہیں کریں! 
انصاف انڈیا، مجلس العلماءوالامۃ ضلع نوادہ مظلوموں کی انصاف لڑائی لڑتی رہی ہے ایک انصاف کی لڑائی اور لڑیے گی ۔
نوادہ کے لوگوں خاموشی سے تماشہ دیکھو اور کسی کے پٹنے کا انتظار کرو! 
اللہ ہمارا اور آپ کا حامی وناصر ہو آمین یارب العالمین 
ایک دکھی بہاری 
نوشادزبیرملک 
جنرل سیکریٹری: مجلس العلماءوالامۃ ضلع نوادہ، بہار 
کنوینر انصاف انڈیا، بہار 
موبائل: 9430048193 /9934266250


Post a Comment

Popular posts from this blog

सीतामढ़ी महादेवपट्टी गाँव में हुए गैस लीक काण्ड में झुलसे एक और जख्मी मुकेश पासवान की मौत/मृतक और पीड़ित परिवार को मदद नही

मोहम्मद दुलारे
__________
परिहार(सीतामढ़ी)।महादेवपट्टी गाँवमें हुए गैस लीक काण्ड में झुलसे एक और जख्मी मुकेश पासवान की मौत शनिवार को एसकेएमसीएच मुजफ्फरपुर में हो गई। इस प्रकार इस घटना में अब तक मरने वालों की संख्या 3 हो गई है। मुकेश से पहले 31 अक्टूबर की रात रामप्रवेश पटेल और 3 नवंबर को मुकेश की 3 वर्षीया भतीजी राधा की मौत भी इलाज के दौरान एसकेएमसीएच में हो गई थी। यहाँ बता दें कि छठ पूजा से एक दिन पूर्व 25 अक्टूबर की रात महादेव पट्टी के मुकेश पासवान के घर में खाना गरम करने के दौरान पहले से लीक गैस में अचानक आग लग गया था। इस घटना में मुकेश सहित परिवार के 11 लोगों के अलावा पड़ोसी रामप्रवेश पटेल भी झुलसकर गंभीर रुप से जख्मी हो गए थे। घायलों को ग्रामीणों एवं जनप्रतिनिधियों की मदद से स्थानीय पीएचसी परिहार में भर्ती कराया गया था,बाद में सभी घायलों को एसकेएमसीएच मुजफ्फरपुर रेफर कर दिया गया था। जिनमें से अब तक 3 लोगों की मौत हो चुकी है। इस घटना से गाँव में मातमी सन्नाटा पसरा हुआ है।तीन मौत के बाद टूटा भरोसा ः एसकेएमसीएच में एक-एक कर 3 घायलों की मौत के बाद  परिजनों का सब्र जवाब दे गया है। परिजनो…

तालिमी मरकज़ के शिक्षा स्वयं सेवक राजनीती का शिकार न बने

बिहार प्रदेश के सभी तालिमी मरकज़  साथियों  व्हाट एप्प पर बिना मतलब बहस ,इल्ज़ाम तराशी से कुछ हासिल होने वाला हो तो बतलाये ।इस फालतू के बहस से कुछ हासिल होने को नही है लिहाज़ा खामखा के बहस से बचा जाये।
तालिमी मरकज़ हों या उत्थान केंन्द्र के साथी सभों की ख्वाहिश है कि उनको सरकार राज्य कर्मी घोषित कर वेतनमान दे मगर ज़रा सोचें क्या सरकार ये माँग  तालिमी मरकज़ और उत्थान केंन्द्र को देने जा रही है ?
सोचने वाली बात ये है कि जब सरकार तालिमी मरकज़ और उत्थान केंन्द्र के कर्मी को निविदा कर्मी और नियोजित मानने को तैयार नही -------
ऐसे हालात में हमारे तालिमी मरकज़ के साथी ये भ्रम पाले हुए हैं कि सरकार निश्चय यात्रा के खात्मा पर तश्त में पेश कर बहुत बड़ी चीज पेश करने जा रही है इस लिए सरकार के सामने सांकेतिक तौर पर भी बैठक कर अपनी कोई माँग न रखें। और तरह तरह के मिसाल पेश कर डराया जा रहा है जो ग़ैर मुनासिब है।
आप ये कान खोल कर सुन लें आप की सेवा 60 साल होगी ये संकल्प में नही बल्कि सरकार का ये कहना है कि 60 साल तक सेवा लेगी।आपने जो अपने ख्वाब व ख्याल में पाल रखा है क्या वह बिना क़ुर्बानी के हासिल किया जा सकता है…

खबर का असर परिहार में अतिक्रमण मुक्त अभियान जारी

परिहार  (सीतामढी )।dailychingari ने दिनांक 19/09/2016 को "बस से कुचल कर 06 वर्षीयबच्चे की मौत " शीर्षक से खबर प्रकाशित किया था जिसमें घटना के पीछे सड़कों का अतिक्रमण को मुख्य कारण माना था प्रशासन ने इसे गंभीरता से लिया और परिहार की सड़कों को अतिक्रमण मुक्त करने का अभियान शुरू कर दिया है देखना अब यह है कि प्रशासन इसे कितनी तत्परता से लेती है। ज्ञात हो कि सड़कों के अतिक्रमण और जर्जर सड़क के कारण पूर्व में भी हाईस्कूल के समीप ट्रक से कुचल कर इंदरवा निवासी एक नौजवान की मौत घटना स्थल पर ही हो गईं थी अगर उस समय घटना को गंभीरता से ले लिया जाता तो घटना की पुनः पूर्णावृति नहीं होती और एक जान काल के गाल में जाने से बच जाता ।

शिक्षक भिखारी महतो जिसने इन्दरवा विद्यालय की तस्वीर बदल दी

रितु जायसवाल एक सरकारी विद्यालय और एक शिक्षक ऐसा भी!
बिहार! एक ऐसा राज्य जो अपनी ऐतिहासिक गौरवगाथा के साथ साथ सरकारी शिक्षा तंत्र के बदहाली केलिए भी जाना जाता है। प्राथमिक, माध्यमिक, उच्च शिक्षा, सब के हालात दयनीय। माने न माने पर यह एक हकीकत है जिससे न मानने वाले भी अंदर ही अंदर सहमत होते हैं। कोशिश में लगी रहती हूँ की कम से कम पंचायत की मुखिया हूँ तो अपने पंचायत में शिक्षा की तस्वीर बदले पर बदलना तो दूर, तस्वीर बनती तक नहीं दिख रही। अपने पंचायत में जब विद्यालय नहीं मिला (विद्यालय हकीकत में तो खाना खाने का मेस बन गया है) तब थक कर ढूंढने निकली की कहीं तो कोई शिक्षक या विद्यालय होगा जहाँ हकीकत में बच्चों को "विद्यालय" और "शिक्षक" जैसे महान शब्द का मतलब का एहसास होता होगा। तो इस तलाश में मुलाक़ात हुई सोनबरसा के एक पत्रकार बीरेंद्र जी से जो जब मिलते थे तब यही कहते थे की इंदरवा स्कुल देखने कब चलिएगा? इस प्रश्न में उनकी उत्सुकता देखने योग्य रहती थी जैसे वो कुछ बड़ा ही अद्भुत चीज़ दिखाना चाहते हों। 4 से 5 बार उन्होंने कहा पर किसी न किसी कारण से नहीं ही जा पाई। पर आखिरकार एक दि…

बस से कुचल कर 10 वर्षीय बच्चे की मौत

परिहार  (सीतामढी )।बस से कुचल कर 10 वर्षीय बालक की मौत घटना स्थल पर ही हो गई।घटना  परिहार चौक से सटे ट्रांस्फ़र्मर के निकट की है मृतक परिहार निवासी तेज नारायण सिंह का पौत्र है।मृतक शुभम कुमार अजय कुमार सिंह का पुत्र है
                घटना को लेकर आक्रोशित लोगों ने परिहार को पुरी तरह बंद कर दिया है।साथ ही घटना के विरोध में टायर जला कर मुख्य मार्ग को बंद कर दिया ।परिहार में अक्सर दुर्घटनाओं में मृत्यु होती रहती है मगर शासन प्रशासन सचेत नही हो रही है जो चिंता का विषय है दुर्घटनाओं के पीछे एक अहम कारण सड़कों का अतिक्रमणकारिओ के द्वारा सड़कों का अतिक्रमण है।