Saturday, November 04, 2017

सीतामढ़ी महादेवपट्टी गाँव में हुए गैस लीक काण्ड में झुलसे एक और जख्मी मुकेश पासवान की मौत/मृतक और पीड़ित परिवार को मदद नही

मोहम्मद दुलारे
__________
परिहार(सीतामढ़ी)।महादेवपट्टी गाँवमें हुए गैस लीक काण्ड में झुलसे एक और जख्मी मुकेश पासवान की मौत शनिवार को एसकेएमसीएच मुजफ्फरपुर में हो गई। इस प्रकार इस घटना में अब तक मरने वालों की संख्या 3 हो गई है। मुकेश से पहले 31 अक्टूबर की रात रामप्रवेश पटेल और 3 नवंबर को मुकेश की 3 वर्षीया भतीजी राधा की मौत भी इलाज के दौरान एसकेएमसीएच में हो गई थी। यहाँ बता दें कि छठ पूजा से एक दिन पूर्व 25 अक्टूबर की रात महादेव पट्टी के मुकेश पासवान के घर में खाना गरम करने के दौरान पहले से लीक गैस में अचानक आग लग गया था। इस घटना में मुकेश सहित परिवार के 11 लोगों के अलावा पड़ोसी रामप्रवेश पटेल भी झुलसकर गंभीर रुप से जख्मी हो गए थे। घायलों को ग्रामीणों एवं जनप्रतिनिधियों की मदद से स्थानीय पीएचसी परिहार में भर्ती कराया गया था,बाद में सभी घायलों को एसकेएमसीएच मुजफ्फरपुर रेफर कर दिया गया था। जिनमें से अब तक 3 लोगों की मौत हो चुकी है। इस घटना से गाँव में मातमी सन्नाटा पसरा हुआ है।

तीन मौत के बाद टूटा भरोसा ः एसकेएमसीएच में एक-एक कर 3 घायलों की मौत के बाद  परिजनों का सब्र जवाब दे गया है। परिजनों ने एसकेएमसीएच मुजफ्फरपुर में इलाजरत शेष 9 घायलों को वहाँ से लाकर सीतामढ़ी के एक निजी क्लीनिक में भर्ती करा ईलाज करवा रहे हैं। 

पंचायत के मुखिया अजय कुमार गौतम ने बताया कि झुलसे व्यक्तियों के इलाज के लिए सामाजिक स्तर पर चंदा किया जा रहा है। हर संभव मदद के लिए ग्रामीण तैयार हैं,मगर इतनी बड़ी घटना होने के बाद भी ज़िला प्रशासन और स्थानीय निर्वाचित प्रतिनिधियों ,गैस विभाग के अधिकारियों का घटना स्थल का दौरा नही करना और न ही सरकारी इम्दाद देना मानवीय संवेदन हिनता को दर्शाता है,जबकि अभी तक तीन व्यक्तियों की मौत हो चुकी है जिसमें एक छोटी बच्ची भी है और नौ व्यक्ति अभी भी ज़िंदगी और मौत के बीच में लटके हुए हैं।ज़िला प्रशासन, स्थानी निर्वाचित प्रतिनिधियों सांसद, विधायक, गैस के अधिकारियों को तत्काल घटना स्थल का दौरा कर मृतक परिवार और गैस रिसाव से लगे आग में झुलसे पीड़ित व्यक्तियों की आर्थिक मदद करनी चाहिए।

Post a Comment

विशिष्ट पोस्ट

सामान्य(मुस्लिम)जाति के शिक्षा स्वयं सेवी(तालीमी मरकज़) को हटाने से संबंधित निर्णय को वापस ले सरकार वरना सड़क से लेकर संसद तक होगा आंदोलन :- मोहम्मद कमरे आलम

आठ वर्षों से कार्य कर रहे सामान्य मुस्लिम जाति के शिक्षा स्वयं सेवी(तालीमी मरकज़) को एक झटके में बिहार सरकार द्वारा सेवा से यह कह कर हटा दिया...