Saturday, August 27, 2016

नियोजित शिक्षकों को मिल सकती है ऐच्छिक तबादले की सुविधा।

परिहार (सीतामढी)।राज्य के करीब साढ़े तीन लाख नियोजित शिक्षकों का तबादला अब मनपसंद जगहों पर हो सकेगा. शिक्षा विभाग उनकी सेवा शर्त के निर्धारण में जुटा हुअा है. सूत्रों का कहना है कि सेवा शर्त में इन शिक्षकों को कम-से कम एक बार एेच्छिक तबादले की सुविधा को शामिल किया जा सकता है. फिलहाल नियोजन इकाई के स्कूलों में ही उनका तबादला हो सकता है. सेवा शर्त के प्रस्ताव को पहले विभाग के प्रधान सचिव की अध्यक्षता में गठित कमेटी के सामने रखा जायेगा. इसके बाद इस पर शिक्षा मंत्री की भी सहमति ली जायेगी तब नियोजित शिक्षकों की सेवा शर्त अंतिम रूपतय हो पायेगी. हालांकि, प्रधान सचिव की अध्यक्षतावाली कमेटी की एक साल से अधिक समय होने के बाद भी कोई बैठक नहीं हो सकी है. शिक्षक संगठनों की मांग के बाद पिछले दिनों ही शिक्षा मंत्री डाॅ अशोक चौधरी ने माध्यमिक शिक्षा और प्राथमिक शिक्षा निदेशालय को शिक्षक संगठनों से बातचीत कर सुझाव लेने का निर्देश दिया है. उनके सुझावों को सेवा शर्त के प्रस्ताव में रखा जायेगा. शिक्षा मंत्री के निर्देश के बाद माध्यमिक शिक्षा निदेशालय हाइ व प्लस टू स्तर से वैसे शिक्षक संगठनों को, जो मुख्य सचिव के साथ वार्ता में शामिल थे, एक सितंबर को सुझाव देने को कहा है. वहीं, प्रारंभिक स्कूलों के शिक्षक संगठनों को भी सितंबर के पहले सप्ताह में सुझाव देने का मौका दिया जायेगा. समान काम-समान वेतन है मुख्य मांग : नियोजित शिक्षक सेवा शर्तों में समान काम के लिए समान वेतन देने की मांग कर रहे हैं. पुराने वेतनमान वाले शिक्षकों को उनसे कहीं ज्यादा वेतन मिलता है, जबकि नियोजित शिक्षकों के लिए जुलाई, 2015 से नया वेतनमान दिया जा रहा है. नियोजित शिक्षक ऐच्छिक तबादले की मांग भी कर रहे हैं. इसके अलावा पेंशन स्कीम से भी जोड़ने की लगातार शिक्षक मांग करते रहे हैं अौर जितने भी अप्रशिक्षित शिक्षक हैं, उन्हें एक साथ प्रशिक्षित कराने की भी वकालत करते रहे हैं.

Thursday, August 25, 2016

टोला सेवक एंव शिक्षा स्वयं सेवक को पांच माह से मानदेय भुगतान नही

टोला सेवक एंव शिक्षा स्वयं सेवक को पांच माह से मानदेय भुगतान नही होने के कारण इनके समक्ष भुखमरी की हालत उत्पन्न हो गईं है।
       परिहार संघ ने जिला कार्यक्रम पदाधिकारी साक्षरता सीतामढी से मानदेय भुगतान करने की मांग की गई है।

Tuesday, August 23, 2016

जमुई में ब्रेन हेम्रेज से प्रखंड शिक्षक की मौत

बिहार पंचायत नगर प्रारंभिक शिक्षक संघ ने, ढ़ाई लाख रुपया का सहयोग राशि देने का लिया निर्णय

23-08-16 को प्रातः 3 बजे प्रखंड शिक्षक योगेन्द्र मंडल ums बिचला कटौना , प्रखंड बरहट, जिला जमुई का निधन ब्रेन हेम्रेज के कारण हो गया है।
सैकड़ों शिक्षक ने उनके पार्थिव शरीर के स्कूल पहुँचते ही भावभीनी श्रधांजलि अर्पित किया |

साथ ही बिहार पंचायत नगर प्रारंभिक शिक्षक संघ के बरहट प्रखंड अधयक्ष महेश शर्मा की अध्यक्षता में अपात बैठक कर जिला सचिव रवि यादव के नेतृत्व में बरहट प्रखंड के सभी शिक्षकों ने एक दिन का वेतन के रूप में  कुल ढ़ाई लाख रुपया स्व. शिक्षक के परिजन को बतौर सहयोग राशि के रूप में देने का निर्णय लिया है |

वही प्रदेश सचिव आनंद कौशल सिंह श्रधांजलि अर्पित करने के बाद डीईओ जमुई से अबिलम्ब स्व. योगेन्द्र मंडल के परिजन को 20 लाख रुपया बतौर मुआवजा व नौकरी देने की भी मांग की है |
        
        

Thursday, August 18, 2016

Nobody's friend

She had some sweets that she wouldn't share,
she had a book that she wouldn't lend,
she wouldn't let anyone play with her doll,
she's nobody's friend !
He had some toffee, and ate every bit,
He had a tricycle he wouldn't lend,
He never let anyone play with his train.
He's nobody's friend !
But I'll share all of my sweets with you,
My ball and my books, games I Will lend,
Here's half my Apple and half my cake.
                                  I'my your friend !

Wednesday, August 17, 2016

काउंसिलिंग स्थगित

सीतामढ़ी। प्रधानाध्यापक पद पर प्रोन्नति के लिए आगामी 16 व 17 अगस्त को होनवाली काउंसिलिंग स्थगित कर दी गई है। इस आशय की जानकारी डीपीओ प्रेमचंद ने देते हुए कहा कि डीओ के निर्देश के आलोक में यह निर्णय लिया गया है। बताया कि प्रोन्नति के लिए आगामी तिथि बाद में निर्धारित की जायेगी।

Wednesday, August 10, 2016

शिक्षा मंत्री ने नियोजित शिक्षकों को बताया डिरेल, कहा- टीचर की तरह रहें भाषण न दें

अपनी मांगों को लेकर शिक्षा मंत्री अशोक चौधरी से मिलने पहुंचे नियोजित शिक्षकों को बुधवार को समाधान के बजाय फटकार मिली.
शिक्षा मंत्री अशोक चौधरी ने नियोजित शिक्षकों को यहां तक कह दिया कि टीचर की तरह रहें और भाषण न दें. इसके बाद भी जब नियोजित शिक्षकों ने अपनी मांगों को दोहराना जारी रखा तो शिक्षा मंत्री ने उन्हें ये कहकर डपट दिया और कहा कि टीचर डीरेल हो गए हैं.
दरअसल शिक्षा मंत्री अशोक चौधरी बुधवार को पटना कॉलेजिएट स्कूल के स्थापना दिवस में पहुंचे थे. बाहर निकलते वक्त शिक्षा मंत्री अशोक चौधरी का नियोजित शिक्षकों ने घेराव किया और उन्हें बताया कि पिछले 6 माह से बिहार के नियोजित शिक्षकों को वेतन नहीं मिला है जिसके कारण शिक्षक भूखमरी के कगार पर पहुंच गए हैं.
शिक्षा मंत्री ने कहा कि पिछले 15 सालों की यह व्यवस्था खराब है और 6 महीने में ठीक नहीं किया जा सकता है.
उधर नियोजति शिक्षक विनोद कुमार का कहना है कि पिछले 6 महीने से वेतन नहीं मिल है और उनकी स्थिति खराब हो गई है.
नियोजित शिक्षकों ने मंत्री के सामने एक समान वेतनमान देने की भी गुहार लगाई लेकिन शिक्षा मंत्री ने इसे एक सिरे से खारिज कर दिया।

Sunday, August 07, 2016

Diffuse reflections

Diffuse reflection is the reflection oflight from a surface such that an incident ray is reflected at manyangles rather than at just one angle as in the case of specular reflection. An illuminated ideal diffuse reflecting surface will have equal luminancefrom all directions which lie in the half-space adjacent to the surface (Lambertian reflectance).

A surface built from a non-absorbing powder such as plaster, or from fibers such as paper, or from apolycrystalline material such as whitemarble, reflects light diffusely with great efficiency. Many common materials exhibit a mixture of specular and diffuse reflection.

The visibility of objects, excluding light-emitting ones, is primarily caused by diffuse reflection of light: it is diffusely-scattered light that forms the image of the object in the observer's eye.

Monday, August 01, 2016

बिहार पंचायत- नगर प्रारम्भिक शिक्षक संघ (2565/11) का विधानसभा के मानसून सत्र के दॊरान कार्यक्रम नहीं।

प्रदेश अध्यक्ष पूरण कुमार ने बताया कि बिहार के दर्जनों  जिला बाढ़ग्रस्त होने एवं सिर्फ चार दिन का विधानसभा का मानसून सत्र होने के कारण संघ द्वारा कोई कार्यक्रम नहीं करने का निर्णय लिया  गया हॆ। साथ ही सेवा शर्त, ऎच्छिक स्थानान्तरण, अप्रशिक्षित शिक्षकों का एकमुश्त प्रशिक्षण, बेसिक ग्रेड से स्नातक ग्रेड में समायोजन, अप्रशिक्षित शिक्षकों को ग्रेड पे,स्थानीय पदाधिकारी द्वारा शिक्षकों का आर्थिक शोषण ,जीविका द्वारा विद्यालय का निरीक्षण सहित मूलभूत समस्याओं के बावजूद शिक्षामंत्री द्वारा शिक्षारथ के माध्यम से बिहार भ्रमण का सभी जिला में विरोध करने का निर्णय लिया गया हॆ, जिसकी शुरुआत सुपॊल जिला से हो चुकी हॆ। शिक्षकों से अपील हॆ कि अन्य संगठन द्वारा किए गए कार्यक्रम का हिस्सा ना बनें।शिक्षक अपने-अपने प्रखंड इकाई के माध्यम से सम्मेलन सह सेमिनार का आयोजन कर एकजुटता का परिचय दें ताकि आने वाले दिनों में लाखों  शिक्षकों की मॊजूदगी में विधानसभा का घेराव कर पूर्ण वेतनमान की मांग को जोरदार ढंग से रखा जाए ।                                   

विशिष्ट पोस्ट

सामान्य(मुस्लिम)जाति के शिक्षा स्वयं सेवी(तालीमी मरकज़) को हटाने से संबंधित निर्णय को वापस ले सरकार वरना सड़क से लेकर संसद तक होगा आंदोलन :- मोहम्मद कमरे आलम

आठ वर्षों से कार्य कर रहे सामान्य मुस्लिम जाति के शिक्षा स्वयं सेवी(तालीमी मरकज़) को एक झटके में बिहार सरकार द्वारा सेवा से यह कह कर हटा दिया...