Tuesday, January 30, 2018

تونے بخشے ہیں جو آزار کہاں رکھوں گا

تونے بخشے ہیں جو آزار کہاں رکھوں گا ,,
یہ گرے گنبدوں و مینار کہاں رکھوں گا ..

میرا گھر ہے کہ کتابوں سے بھرے ہیں کمرے ,,
سوچ, اس میں بھلا ہتھیار کہاں رکھوں گا ..

اپنے بچوں سے ہر ایک ظلم چھپالوں گا مگر ,,
چھ دسمبر! تیرے اخبار کہاں رکھوں گا

एनआईओएस से डीएलएड करने वालों के लिए एक आवश्यक सूचना

*एनआईओएस से डीएलएड करने वालों के लिए एक आवश्यक सूचना*

*आप लोगों को पता होगा कि एनआईओएस की परीक्षा 26 ,27 एवं 28 फरवरी 2018 को होने वाली थी लेकिन कुछ कारणों के चलते यह परीक्षा को स्थगित किया गया जिनमें मुख्य कारण स्टडी सेंटर का घोषित ना होना था और सभी प्रशिक्षणार्थी का बहुत दूर दूर सेंटर हो जाने के कारण भी था आप लोगों को पता होगा कि स्टडी सेंटर नहीं बनने के चलते पीसीपी का कार्यक्रम कहीं भी नहीं हो पाया अब आपको सभी जगहों पर स्टडी सेंटर बन गई है नया पीसीपी का शेड्यूल भी बहुत जल्द जारी होगा पहले पीसीपी शनिवार एवं रविवार को होना था परंतु अब पीसीपी सिर्फ रविवार को होगा पीसीपी कुल 15 दिनों का होगा जिसमें 12 दिन उपस्थित होना बहुत ही जरूरी है अगर आप 12 दिन उपस्थित नहीं होते हैं तो आप परीक्षा नहीं दे पाएंगे आपके  परीक्षा की तिथि घोषित कर दी गई है अब परीक्षा 13-14-15 मार्च को होगी 13 मार्च 2018 को 501 मॉडल होगा 14 मार्च 2018 को 502 मॉडल होगा एवं 15 मार्च 2018 को 503 मॉडल होगा यह भी ध्यान रखा जाए कि जब पीसीपी क्लास चलेगी तभी आपको मेंटर के द्वारा बताए गए निर्देश पर अपने असाइनमेंट जमा करने होंगे अभी फिलहाल आपको असाइनमेंट जमा नहीं करनी है यह याद रखें कि अब यह परीक्षा 13, 14 एवं 15 मार्च 2018 को होगी यह सूचना पुष्कर कुमार जी TEAM NIOS के द्वारा बातचीत में बताई गई है*

501 सम्भावित प्रश्न - पत्र

डी.ई.एल.एड.-501 प्राथमिक शिक्षा भारत में एक सामाजिक-सांस्कृतिक परिप्रेक्ष्य

नमूना प्रश्न पत्र

सामान्य निर्देश :
(ए) सभी प्रश्न अनिवार्य हैं।
(बी) इस पत्र में कुल 42 प्रश्न हैं।
(सी) (i) प्रश्न संख्या 1 से 15 एकाधिक पसंद-प्रकार के प्रश्न हैं जिनमें 1 अंक प्रत्येक होते हैं।
(ii) प्रश्न संख्या 16 से 30 बहुत कम उत्तर-प्रकार के प्रश्न हैं जिनमें 1 अंक होते हैं।
(iii) प्रश्न संख्या 31 से 40 कम उत्तर-प्रकार के प्रश्न हैं जो 2 अंक प्रत्येक होते हैं।
(iv) प्रश्न संख्या 41 और 42 में लंबे समय से उत्तर-प्रकार वाले प्रश्न हैं, जिनमें 10 अंक हैं।
(डी) उन प्रत्येक प्रश्न के अंक को इंगित किया जाता है।

प्रश्न 1. शिक्षा आधुनिकीकरण की प्रक्रिया को गति कर सकते हैं
(ए) शिक्षकों के वेतन में वृद्धि
(बी) व्यावसायिक विषयों और विज्ञान के शिक्षण पर बल देना
(सी) सार्वजनिक शिक्षा की सामान्य स्कूल व्यवस्था शुरू करना
(डी) छात्रों को सामाजिक न्याय के उच्च विचारों से पहले प्रस्तुत

प्रश्न 2. निम्नलिखित में से कौन सी शिक्षा पर राष्ट्रीय नीति, 1 9 86 की मुख्य विशेषता नहीं है?
(ए) राष्ट्रीय रक्षा के लिए सैन्य प्रशिक्षण
(बी) वयस्क शिक्षा का प्रचार
(सी) सभी के लिए समान शैक्षिक अवसर
(डी) शिक्षा के प्रति जवाबदेही

प्रश्न 3 बच्चों के स्वस्थ और नि: शुल्क विकास में निम्न अधिकारों में से कौन सी एक बाधा है?
(ए) सोचा की स्वतंत्रता
(बी) पसंद की स्वतंत्रता
(सी) खर्च की स्वतंत्रता
(डी) भाषण की स्वतंत्रताप्रश्न 4. निम्नलिखित में से कौन सी डीआईईटी का एक कार्य है?
(ए) स्कूल की इमारतों की वर्तमान मरम्मत करने के लिए
(बी) अनौपचारिक शिक्षा के प्रशिक्षकों और पर्यवेक्षकों के प्रशिक्षण और अभिविन्यास
(सी) जहां भी संभव हो, मध्याह्न भोजन का प्रबंध करने के लिए
(डी) स्कूल के वित्त प्रबंधन और वितरण के लिए

प्रश्न 5. एसआईइएएमएटी ज्ञान के प्रसार के माध्यम से कार्य करता है
(ए) मामले के अध्ययन का संकलन
(बी) संस्थागत योजना
(सी) सेमिनार और चर्चा
(डी) तकनीकी सहायता

प्रश्न 6. काम करने वाले बच्चों की जरूरतों को पूरा करने के लिए निम्न में से कौन सा एक गैर-औपचारिक शिक्षा कार्यक्रम है?
(ए) मदरसा
(बी) बालाक और बालिका शिक्षा शिविर
(सी) मुक्तांगन
(डी) सहज शिक्षा केंद्र

प्रश्न 7. प्राथमिक और ऊपरी प्राथमिक विद्यालय के संयोजन को इस प्रकार कहा जाता है
(ए) प्राथमिक शिक्षा
(बी) शिक्षा का सार्वभौमिकरण
(सी) माध्यमिक शिक्षा
(डी) पूर्व-बुनियादी शिक्षा

प्रश्न 8. एसएसए में 'अनुसंधान और मूल्यांकन' के तहत प्रदान किया गया धनराशि का उपयोग इसके लिए किया जा सकता है
(ए) सरकारी स्कूल केवल
(बी) सहायता प्राप्त स्कूल केवल
(सी) दोनों सरकार और सहायता प्राप्त स्कूल
(डी) गैर-अनुदानित विद्यालय केवल

प्रश्न 9. एसएसए के तहत, निधि को वीईसी / एसएमसी / ग्राम पंचायतों को स्थानांतरित किया जाएगा
(ए) स्कूलों के रख-रखाव और मरम्मत
(बी) स्कूलों का उन्नयन
(सी) शिक्षकों का वेतन
(डी) दोनों (ए) और (बी)

प्रश्न 10. निम्न में से कौन सा बुनियादी सुविधाओं की श्रेणी के बाहर माना जाता है?
(ए) हाउसिंग
(बी) शिक्षा
(सी) टेलीविजन
(डी) बिजली

प्रश्न 11. आरटीई के क्षेत्र में गैर-सरकारी संगठनों के साथ एक जीवंत साझेदारी की कल्पना है
(ए) पारंपरिक अध्यापन विकासशील
(बी) नैतिक चिंता व्यक्त
(सी) वैज्ञानिक दृष्टिकोण को ध्यान में रखते हुए
(डी) क्षमता निर्माण

प्रश्न 12. मुख्य नियोजन टीम के बारे में निम्नलिखित में से कौन सा बयान गलत है?
(ए) एक कोर प्लानिंग टीम को शामिल करने के लिए योजना को वैधता प्रदान करता है
(बी) शिक्षक भी नियोजन के लिए सभी आवश्यक जानकारी एकत्र कर सकते हैं
(सी) समुदाय ऐसी टीम बनाकर स्वामित्व की भावना महसूस करेगा
(डी) प्राथमिकताओं के बारे में निर्णय लेने के दौरान समुदाय के प्रतिनिधियों का सकारात्मक योगदान होता है

प्रश्न 13. शिक्षा की गुणवत्ता मुख्य रूप से संबंधित है
(ए) अपने सभी आयामों में जीवन की गुणवत्ता
(बी) परीक्षाएं प्राप्त हुईं
(सी) memorization
(डी) अंग्रेजी सीखना

प्रश्न 14. अल्पसंख्यक समुदाय से संबंधित छात्रों को अक्सर स्कूल के वातावरण से बाहर रखा जाता है क्योंकि
(ए) वे अतिभारित सामग्री मिल सकती है
(बी) स्कूल में सीखने के लिए कुछ भी नया नहीं है
(सी) पाठ्यपुस्तक में और कक्षा लेनदेन में इस्तेमाल की जाने वाली भाषा उनकी मातृभाषा से अलग हो सकती है
(डी) वे मुख्यधारा का एक हिस्सा बनना चाहते हैं

प्रश्न 15. संयुक्त राष्ट्र के कितने सदस्य राज्यों ने 'सभी के लिए शिक्षा' पर 1 99 0 में जोटीन सम्मेलन के लिए इकट्ठा किया?
(ए) 145
(बी) 148
(सी) 150
(डी) 155

प्रश्न 16. पाठ्यक्रम के लिए और किस प्रयोजन के लिए राष्ट्रीय फ्रेमवर्क का प्रस्ताव रखा है?

प्रश्न 17. मुक्त और अनिवार्य शिक्षा का कोई एक लाभ उल्लेख।

प्रश्न 18. किसके स्कूल से एक हेडमास्टर का कर्तव्य है, किसी बच्चे को दूसरे स्कूल में जाने की आवश्यकता है?

प्रश्न 19. आरटीई अधिनियम के तहत शिक्षक की किसी एक भूमिका का उल्लेख करें।

प्रश्न 20. एससीईआरटी द्वारा अभिविन्यास कार्यक्रमों को व्यवस्थित करना

प्रश्न 21. मतीप्रबोधन परियोजना का मुख्य उद्देश्य लिखें।

प्रश्न 22. यदि प्राथमिक विद्यालय में दाखिला बच्चों की संख्या 75 है और प्राथमिक विद्यालय की उम्र के बच्चों की संख्या 50 है तो प्रतिशत में सकल नामांकन अनुपात (जीईआर) की गणना करें।

प्रश्न 23. किसने सर्व शिक्षा अभियान शुरू किया और कब?

प्रश्न 24. एसएसए कार्यक्रम के तहत नियुक्त शिक्षकों के वेतन का समर्थन कौन करता है?

प्रश्न 25. प्राथमिक शिक्षा के लिए बच्चों के लिए उपयोगी और प्रासंगिक स्तर पर शिक्षा कैसे प्राप्त करती है?

प्रश्न 26. सूक्ष्म नियोजन से क्या मतलब है?

प्रश्न 27. विकेंद्रीकृत प्राथमिक शिक्षा के लक्ष्य को हम कैसे प्राप्त कर सकते हैं?

प्रश्न 28. शिक्षा में गुणवत्ता के किसी भी दो मुख्य घटकों का उल्लेख करें।

प्रश्न 2 9। विशेष आवश्यकता वाले बच्चे अक्सर हाशिए पर क्यों हैं? किसी भी दो कारणों का उल्लेख करें

प्रश्न 30. विश्वव्यापी ज्ञान और अच्छे अभ्यास के माध्यम से विश्व बैंक का समर्थन करने वाले बयान का विश्लेषण करें।

प्रश्न 31. महिला शिक्षा संबंधी राष्ट्रीय समिति, 1 9 58 की किसी भी दो सिफारिशों का उल्लेख करें।

प्रश्न 32. एनसीएफ, 2005 हमारे मार्गदर्शक सिद्धांतों पर आधारित है?

प्रश्न 33. भाग लेने के अधिकार के तहत बच्चों द्वारा भागीदारी की गुंजाइश की जांच करना।

प्रश्न 34. एनसीईआरटी द्वारा आयोजित होने वाले शिक्षक प्रशिक्षण के स्तर और क्षेत्रों को हाइलाइट करें।

प्रश्न 35. एनसीईआरटी के चार प्रमुख उद्देश्यों का उल्लेख करें।

प्रश्न 36. उत्तर प्रदेश मूल शिक्षा परियोजना में अपनाई गई दो रणनीतियों का वर्णन करें।

प्रश्न 37. शिक्षा के दो मुख्य उद्देश्य बताएं ..

प्रश्न 38. पाठ / विषयों के दो उदाहरण दें जिन्हें बच्चों को कक्षा से बाहर ले जाया जाता है और अधिक प्रभावी ढंग से सिखाया जा सकता है।

प्रश्न 39. यह कहने के लिए कितना सही है कि 'खुले दिमाग' जॉन डेवी द्वारा प्रवर्तित चिंतनशील अभ्यास का एक महत्वपूर्ण घटक है?

प्रश्न 40. विकासशील देशों में प्राथमिक शिक्षा में बाधाओं के रूप में कार्य करने वाले दो कारकों का वर्णन करें।

प्रश्न 41. गुरुकुल प्रणाली के तहत गुरु की भूमिका और जिम्मेदारियों का वर्णन करें।

प्रश्न 42. युवा बच्चों को रोजगार के बारे में आपकी क्या राय है? वे नियमित स्कूलों में भाग लेने में असमर्थ क्यों हैं? ऐसे बच्चों को शिक्षित करने के लिए किस प्रकार के पाठ्यक्रम को तैयार किया जाना चाहिए?

*मो.शरफे आलम*

Thursday, January 25, 2018

बिहार में भी ÑIOS D.el.ed स्टडी सेन्टर पर चलने वाले PCP का डेट हुआ फिक्स*

*बिहार में भी ÑIOS D.el.ed स्टडी सेन्टर पर चलने वाले PCP का डेट हुआ फिक्स*

*सभी NIOS D.el.ed प्रशिक्षुओं को सूचित किया जाता है कि बिहार में भी PCP का डेट फिक्स कर दिया गया है। जो 3 फरवरी (शनिवार)से बिहार के सभी NIOS D.el.ed स्टडी सेन्टर पर एक साथ स्टार्ट हो जाएगा।*
           *PCP प्रत्येक शनिवार एवं रविवार को कुल पन्द्रह दिनों तक चलेगा।*

*03-02-2018 (शनिवार)*
*04-02-2018 (रविवार)*
*10-02-2018 ( शनिवार)*
*11-02-2018 (रविवार)*
*17-02-2018 ( शनिवार)*
*18-02-2018 (रविवार)*
*24-02-2018 (शनिवार)*
*25-02-2018 (रविवार)*
*03-03-2018 (शनिवार)*
*04-03-2018 (रविवार)*
*10-03-2018 (शनिवार)*
*11-03-2018 ( रविवार)*
*17-03-2018 (शनिवार)*
*18-03-2018 (रविवार)*
*24-03-2018 ( शनिवार)*

Sunday, January 21, 2018

टोला सेविका पूजा कुमारी की ठंड लगने से असामयिक निधन

खिजिर सराय इमामगंज प्रखण्ड की  टोला सेविका पूजा कुमारी की ठंड लगने से असामयिक निधन हो गई। सरकार टोला सेवक को इतना कम मानदेय देती है कि ये अपना और अपने बच्चों का भरण पोषण बमुश्किल कर पाते हैं ढंग का कपड़ा और खाना तो एक सपना है।

Sunday, January 14, 2018

नगर प्रारंभिक शिक्षक संघ, अररिया" करेगा मानव श्रृंखला का बहिष्कार।

20 जनवरी तक वेतन मद की राशि आवंटित नहीं होने पर "बिहार पंचायत नगर प्रारंभिक शिक्षक संघ, अररिया" करेगा मानव श्रृंखला का बहिष्कार।

14 जनवरी 2018 मकर संक्रांति के दिन "बिहार पंचायत नगर प्रारंभिक शिक्षक संघ जिला इकाई-अररिया" की एक महत्वपूर्ण बैठक जिलाध्यक्ष प्रशांत कुमार की अध्यक्षता में यादव कॉलेज अररिया के प्रांगण में आयोजित हुई। बैठक में जिला एवं प्रखंड स्तरीय संघीय पदधारकों ने भाग लिया।

              बैठक में सर्वसम्मति से निर्णय लिया गया कि सरकार अगर 20 जनवरी तक लम्बित पांच माह का वेतन मद की राशि जिलों को आवंटित नहीं करती है तो संघ, सरकार की आगामी महत्वाकांक्षी कार्यक्रम "मानव श्रृंखला" से अलग रहेगी।

              बैठक को संबोधित करते हुए जिलाध्यक्ष श्री प्रशांत कुमार ने कहा कि शिक्षक के सहयोग के बगैर समाज से कोई भी कुरीतियों को समाप्त नहीं किया जा सकता। शिक्षक निर्माणकर्त्ता भी है और मार्गदर्शक भी। इसलिए इनका सहयोग काफी महत्वपूर्ण है। जिलाध्यक्ष ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर निशाना साधते हुए कहा कि नीतीश जी खुद से जिस प्रकार समाज में शिक्षकों को अपमानित कर एक अशिष्ट समाज के निर्माण के जनक बने। आज उसी अशिष्टता का परिणाम है माननीय के काफिले पर हमला। यह छोटी सी घटना समाज के बदलते स्वरूप को दर्शाती है। समय रहते अगर शिक्षकों की खोयी प्रतिष्ठा को नहीं लौटाया गया तो आने वाले समय में स्थिति और भयावह हो सकती है। समाज अशिष्टता की प्रकाष्ठा को पार कर जायेंगे इसलिए जरुरत है समाज को शिष्टाचार में लाने की इसके लिए समाज में शिक्षकों का सम्मान जरुरी है उनकी आर्थिक जरूरतों को पूरा करते हुए शिक्षकों से सिर्फ पठन-पाठन का कार्य लिया जाय। शिक्षक अपनी खोई प्रतिष्ठा को पुनः प्राप्त कर लेंगे। अन्यथा जो समाज अपने बच्चों के भविष्यनिर्माणकर्त्ता का अपमान कर सकते हैं वह किन्हीं का भी अपमान कर सकते हैं। इस सत्य को स्वीकारना होगा।
              जिलाध्यक्ष ने बताया कि दहेज़ प्रथा एवं बाल विवाह पर जब पहले से कानून बना हुआ है फिर इनपर मानव श्रृंखला बनाना राशि का दुरुपयोग नहीं कहें तो और क्या? सत्र समाप्त होने जा रहा है राज्य के दो करोड़ बच्चों को किताबें नहीं मिल पाई। शिक्षकों को पांच माह से वेतन नहीं मिला है। मगर विवेकहीन सरकार रोड पर एक दिन के संकल्प पाठशाला के लिए करोड़ों रुपये खर्च कर क्या दर्शाना चाहती है पता नहीं? जरूरत है नयी पीढ़ी को रोज़ संकल्प दिलाने की जो शिक्षण संस्थानों में ही संभव है। यहां पर महत्व देने की जरूरत है। मगर सरकार के मुखिया अपनी महत्वाकांक्षा को महत्व दे रहे हैं। जो एक नये राजनीति को जन्म दे रहा है। इस तरह की राजनीतिक परिपाटी समाज एवं राष्ट्र के लिए घातक सिद्ध होगा। जरुरत है इन पर आवाज़ उठाने की। मगर आज की मिडिया सरकार की गुणगाण में लग जाती है। मिडिया को भी इस तरह की राजनीति पर आवाज़ उठानी चाहिए।

             जिला सचिव मो0 माजउद्दीन ने कहा कि सरकार द्वारा सुप्रीम कोर्ट में दायर SLP के विरुद्ध संघ निर्णयाक रुप से लड़ेगी। माननीय सुप्रीम कोर्ट से न्याय मिलने की पूरी उम्मीद है। राज्य संघ को आर्थिक मदद की जरूरत है। जिला संघ, जिले के तमाम शिक्षकों से सहयोग की अपेक्षा करती है।जिसपर अंतिम निर्णय अगली बैठक में ली जायेगी।

              बैठक में जिलाध्यक्ष, जिला सचिव के आलावे कई संघीय पदधारकों ने भाग लिया जिनमें मुख्य रूप से इमरान आलम, गंगा प्रसाद मुखिया, मगफूर आलम, अब्दुल रहमान, अफरोज आलम, रणजीत कुमार, साबिर आलम, आशिकुर्रहमान, राजेश पासवान, नवीन ठाकुर, कुमार रजनीश भारती, संतोष पासवान, नवीन चौधरी, अजय चौधरी, कुंदन यादव, अरबिन्द कुमार, रंजीत कुमार, विकास कुमार विश्वास, आशना शहजाद, कमरुजम्मा, खालिद हुसैन, अजमल हुसैन, नजीर अहमद, नौशाद आलम, रामानंद सिंह, इसराईल आलम, मारुफ आलम, ऋषि कुमार रजक, सीताराम रजक, अनुज कुमार, रंजन चौरसिया, मजहर आलम सहित दर्जनों शिक्षक उपस्थित थे।

Saturday, January 13, 2018

राज्यव्यापी मानवश्रृंखला निर्माण में सहयोग करें - नागेन्द्र कुमार पासवान

दहेज प्रथा एवम् वाल विवाह उन्मूलन के समर्थन में  राज्य सरकार के आह्वान पर 21 जनवरी 2018 को आयोंजित राज्यव्यापी मानवश्रृंखला निर्माण में सभी सामाजिक राजनैतिक कार्यकर्ता जनप्रतिनिधि का सहयोग अपेक्षित है।सभी राजनीति पार्टी प्रमुख से  आग्रह है दहेज़ रूपी दानव जो सामाजिक कलंक है के विरोध  में 21 जनवरी को आयोजित मानव श्रृंखला में भाग लेकर बिहार को आदर्श राज्य बनाने में सहयोग करे।
नागेन्द्र कुमार पासवान
मुख्य कार्यक्रम समन्वयक
साक्षर भारत सीतामढ़ी।

राज्यव्यापी मानवश्रृंखला निर्माण में सहयोग करें - नागेन्द्र कुमार पासवान

दहेज प्रथा एवम् वाल विवाह उन्मूलन के समर्थन में  राज्य सरकार के आह्वान पर 21 जनवरी 2018 को आयोंजित राज्यव्यापी मानवश्रृंखला निर्माण में सभी सामाजिक राजनैतिक कार्यकर्ता जनप्रतिनिधि का सहयोग अपेक्षित है।सभी राजनीति पार्टी प्रमुख से  आग्रह है दहेज़ रूपी दानव जो सामाजिक कलंक है के विरोध  में 21 जनवरी को आयोजित मानव श्रृंखला में भाग लेकर बिहार को आदर्श राज्य बनाने में सहयोग करे।
नागेन्द्र कुमार पासवान
मुख्य कार्यक्रम समन्वयक
साक्षर भारत सीतामढ़ी।

Monday, January 01, 2018

कक्षा एक से आठ तक पांच जनवरी तक सभी स्कूल बंद रहेंगे

मो0 अरमान अली
सीतामढ़ी अत्यधिक ठंड को देखते हुए जिला पदाधिकारी राजीव रौशन के निर्देश पर प्रभारी जिला शिक्षा पदाधिकारी श्री शैलेंद्र कुमार  द्वारा दिनांक-05.01.18 तक वर्ग 1-8 तक शिक्षण कार्य स्थगित किया गया है।पत्रांक 2 दिनांक 1.1.2018 एस एस ए के द्वारा सभी सरकारी एवं गैर सरकारी विद्यालय के वर्ग एक से आठ तक विद्यालय संचालन स्थगित करने का आदेश जिला शिक्षा पदाधिकारी के द्वारा निर्गत किया गया है । लेकिन शिक्षक स्कूल नियमित रूप से जायेंगे l प्रभारी जिला शिक्षा पदाधिकारी शैलेन्द्र कुमार ने सभी   dpo,  सभो  बीईओ, सभी  विद्यालय के प्रधानाध्यापक, सभी मदरसा के हेड मौलवी एवं संस्कृत विद्यालय के प्रधानाध्यापक को भी सूचना दी गई है ।

विशिष्ट पोस्ट

सामान्य(मुस्लिम)जाति के शिक्षा स्वयं सेवी(तालीमी मरकज़) को हटाने से संबंधित निर्णय को वापस ले सरकार वरना सड़क से लेकर संसद तक होगा आंदोलन :- मोहम्मद कमरे आलम

आठ वर्षों से कार्य कर रहे सामान्य मुस्लिम जाति के शिक्षा स्वयं सेवी(तालीमी मरकज़) को एक झटके में बिहार सरकार द्वारा सेवा से यह कह कर हटा दिया...